बन जायेंगे किसी के लिए भी स्पेशल अगर अपनाई मोदी की ये 5 बातें

बन जायेंगे किसी के लिए भी स्पेशल अगर अपनाई मोदी की ये 5 बातें

भारत गणराज्य के प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी जी ने पूरी दुनिया में अपनी एक अलग ही छाप छोड़ी है| 17 सितंबर 1950 को गुजरात में जन्मे नरेंद्र मोदी जी का बचपन बहुत संघर्षपूर्ण और दिलचस्प रहा है|मोदी जी एक साधारण परिवार से है और बहुत से मुश्किलों का सामना करने के बाद वो राजनीति के सर्वोच्च शिखर तक पहुंचे है| यही कहा जाता है कि वो अपने अनुशासित जीवन की वजह से ऐसा करने में सफल हुए है| वर्तमान में आक्रामक तेवरों के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भले ही कई बार अपने विरोधी दलों के निशाने पर हों, लेकिन उनमे ऐसी कई बाते है जिनका किसी ने भी अपने जीवन में अनुसरण कर किया तो बन जायेंगे किसी के लिए भी स्पेशल| अगर नीचे दी गयी मोदी की ये 5 बातें जिसने भी अपनाई, सफलता उसके कदम चूमेगी| मोदी जी के जीवन से हम कई बाते सिख सकते है, जैसे कि…

स्पेशल बनने के लिए अपनाये मोदी जी की ये 5 बाते

1) काम के प्रति समर्पण चाहिए! और आराम? वो क्या होता है?

सबसे पहला गुण यही है जो हमे मोदी जी से सीखना चाहिए वो है काम के प्रति निष्ठा, यानि पहले काम फिर आराम। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी अपने काम के प्रति बहुत समर्पित है| इसका सबसे बड़ा उदाहरण यही है कि उन्होंने 3 साल के कार्यकाल में कभी छुट्टी नही ली| वह घंटो काम करने के बावजूद कभी थके या निराश नजर नही आते| अपने मौजूदा कार्यकाल के साथ साथ वे लम्बी यात्राएं और तूफानी दौरे भी करते है|

बन जायेंगे किसी के लिए भी स्पेशल अगर अपनाई मोदी की ये 5 बातें

2) हर किसी को क्रेडिट देना

नरेन्द्र मोदी जी सभी लोगो के कम को प्रोत्साहित करने में कोई कमी नहीं करते| वो कभी भी क्रेडिट देने से नहीं चूकते और यही वजह है उनकी लोकप्रियता की| वो सोशल मीडिया पर अपनी पोस्ट्स और “मन की बात” में कई बार साधारण लोगों की असाधारण कहानियों के लिए तारीफ कर चुके हैं| सोशल मीडिया पर उनके फेन फॉलोइंग दुनिया के कई मशहूर नेताओं से काफी ज्यादा है|

बन जायेंगे किसी के लिए भी स्पेशल अगर अपनाई मोदी की ये 5 बातें

2) नियम का पाबंद होना है जरूरी

मोदी जी की कामयाबी में अनुशासन का बड़ा योगदान है, वो अपना कार्य निधारित समय में पूरा करते है और अपनी दिनचर्या का काम पहले से ही तय कर लेते है| अगर वो काम कि वजह से देर से सोते है, फिर भी सुबह को समय से उठ कर योग करते है| यही वजह है कि लोकसभा चुनाव अभियान के वक्त उन्होंने 3 लाख किलोमीटर तक का फासला तय किया था, जो कि अपने आप में एक रिकॉर्ड है|

4) फॉर्मूलों में बात कहने की कला

केवल मोदी जी ही ऐसे पॉलिटिशियन हैं जो अपनी बात कहने में फॉर्मूलों का इस्तेमाल करते हैं| जो कि सुनने वालो पर बहुत अच्छा असर डालते है| उनके कई फॉर्मूले लोकप्रिय हुए हैं. जैसे आईटी + आईटी = आईटी, इंडियन टैलेंट + इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी = कल का भारत

बन जायेंगे किसी के लिए भी स्पेशल अगर अपनाई मोदी की ये 5 बातें

5) स्थानीयता को महत्व

हमारे प्रधानमंत्री जी स्थानीयता को बहुत महत्व देते है और यह चीज़ हर बार उनके भाषण में देखने को मिली है| वो जिस भी प्रांत या क्षेत्र में जाते है वहां की भाषा और संस्कृति के जरिए आसानी से तालमेल बिठा लेते हैं|

मोदी से ये सीखा जा सकता है

• काम और नतीजे पर फोकस।
• हमेशा कुछ नया सीखने की चाह।
• सिर्फ लक्ष्य पर नज़र होना, ना कि नकारात्मक छवि से परेशान होना|
• हमेशा खुद को पहले से और बेहतर बनाने की कोशिश करते रहता।
• लोगों को जिम्मेदार बनाना और उन्हें निर्णय लेने के अधिकार देना।
• हार अपरिहार्य है। उससे कैसे निपटें और क्या सीख लें, ये ज्यादा जरूरी है।
• मुश्किल वक्त में भी संयमित रहना। भाषा और मनोदशा पर नियंत्रण।
• प्लान बनाएं, भले ही आप उसके बारे में कम जानते हों, उस पर तुरंत काम शुरू कर दें।
• सेहत पर ध्यान दें। अगर आप महत्वाकांक्षी हैं तो अच्छी सेहत ही लक्ष्य पाने में मदद करेगी।

इन सब बातो के सिवाए और भी बहुत सी ऐसी बाते है, जिनसे बहुत कुछ सिखा जा सकता है| मोदी जी ने यही साबित किया है कि लीडर बनने के लिए किसी खास परिवार में जन्म लेना जरूरी नहीं, और न ही आपका राजनीतिक बैकग्राउंड* होना ही जरूरी है, बल्कि समर्पण और कड़ी मेहनत आपको सफल बना सकती है।

जानिए:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *